Month: September 2015

हमारे मोहल्ले में

ॐ हमारे मोहल्ले में – सुबह होती है कुछ लोग हाथ में झाड़ू ,पानी भरा मग लगभग दौड़ते  हुए / सब के पांव धोती लुंगी पाजामे में पहुँचने जर्जर कभी गेट रहे गेट की काली मुंडेर तक पहुँचने आकास से अधिक अगल बगल के मकानों की ओर देखते आशंकाओं...